Hindi Shayari Status- Top 200+ Shayari Status In Hndi – Everyone who wants to put Shayari Status can check and paste this shayari on their status. you can get the shayari from our site shayariguide.in for whatsapp, facebook and instagram Hindi shayari status Top 200+ shayariyan.

Hindi Shayari Status- Top 200+ Shayari Status In Hndi

में खफा नहीं हूँ जरा उसे बता देना
आता जाता रहे यहाँ इतना समझा देना !
में उसके गम में शरीक हूँ
पर मेरा गम न उसे बता देना,
जिन्दगी कागज की किश्ती सही,
शक में न बहा देना !

मैंने कब कहा मुझे गुलाब दे,
या फिर अपनी महोब्बत से
नवाज़ दे…आज बहुत उदास है मन मेरा
गैर बनके ही सही….तू बस मुझे आवाज़ दे💘

पानी से तस्वीर कहाँ बनती है,
ख्वाबों से तकदीर कहाँ बनती है,
किसी को चाहो तो सच्चे दिल से,
कणूँकि यह ज़िन्दगी फिर कहाँ मिलती है

ज़िन्दगी का मतलब आपने बता दिया,
हर गम का मतलब आपने समझा दिया.
आप तो रो-कर भी अपने ग़मों को हल्का न कर सके,
हमने ख़ुशी की अगाढ़ में अपने ग़मों को छुपा लिया.

हमारा दिल सवेरे का सुनहरा जाम हो जाये,
चिरागों की तरह आँखें जले जब शाम हो जाये,
कभी तो आसमान से चांद उतरे जाम हो जाये,
तुम्हारे नाम की एक ख़ूबसूरत शाम हो जाये,
अजब हालात थे यूँ सोडा हो गया आखिर,
मोहब्बत की हवेली जिस तरह नीलाम हो जाये,

कभी कभी इन आँखों में नमी सी होती है
कभी कभी इन होंठों पे हँसी सी होती है..!!
एक बहार बन के आयी हो तुम मेरी जिंदगी में,
एक तुम्ही हो जिससे मेरी ज़िंदगी, ज़िन्दगी सी होती है..!!

हमें मालूम था अन्जाम इश्क़ का लेकिन,
जवानी जोश पर थी, ज़िन्दगी बर्बाद कर बैठे

अब मुझे ज़िन्दगी से प्यार नहीं है,
मौत पे है, ज़िन्दगी पे ऐतबार नहीं है.
रोक ले जो उनकी यादों को दिल में आने से,
इतनी ऊँची मेरे दिल की दीवार नहीं है..

खुवाब कहॉं तो बिखर जाओगे!
दिल कहूँ तो टूट जाओगे!
लो, तुम्हारा नाम ज़िन्दगी रख देती हों..!
मौत से पहले हमारा साथ न छोड़ पाओगे…!!

शाम से पहले तेरी शाम ना होने दूंगा
ज़िन्दगी मैं तुझे न काम ना होने दूंगा
लाग्ने दून ग न हवा तुझ को खिज़ाओं की कभी
फूल जैसा तेरा अंजाम ना होने दूं गा

न जाने किस उल्फ़त में हम उनसे दिल लगा बैठे
अपनी ज़िंदगी का हर लम्हा अश्क़ों से सजा बैठे
एक इशारा किया था उन्होंने हमारी ज़िन्दगी से जाने का
उस बे-मुर्रवत की यद् में आशियाना जला बैठे

कुछ खूबसूरत पल याद आते है,
पलकों पर आँसू छोड़ जाते हैं
कल कोई आवर मिले हमें न भूलना
क्योंकि कुछ रिश्ते जिंदगी भर याद आते है

गुजरी हुई जिंदगी को कभी याद न कर,
तक़दीर में जो लिखा है उस की फरियाद न कर,
जो होगा वह हो कर रहेगा,
तू फ़िक्र में अपनी हसी बर्बाद न कर…

अपनी ज़िन्दगी खुद बनाई जाती है
दूसरों को ये काम न दो
प्यार निभाने में कमी रह जाती है
लकीरों को इल्ज़ाम न दो

मौत मिलती है न ज़िंदगी मिलती है
ज़िन्दगी की राहों में बेबसी मिलती है
रुला देते हैं क्यों मेरे अपने
जब भी मुझे कोई ख़ुशी मिलती है

ज़िन्दगी ऐसी नहीं हर किसी के लिए
जीना मुश्किल नहीं सबी के लिए
हम जीते ह अपने गम के सहारे
लोग कहते ह हम जीते ह खुद के लिए.!

बैठे-बैठे जिंदगी बर्बाद न कीजिए
जिंदगी मिलती है कुछ कर दिखने क लिए
रोके अगर आसमान हमारे रास्ते को
तो तैयार हो जाओ आसमान झुकाने क लिए

दुनिया में हक़ीक़त का पता कुछ नहीं
इलज़ाम हज़ारो ह खता कुछ नहीं
मेरी ज़िंदगी में क्या हैं पढ़ न सकोगे
बस अश्क़ो के दाग है और लिखा कुछ नहीं

एक पल की ख़ुशी और सौ पालो का गम,
मिलेगी न ज़िन्दगी दरबारा…
रा चले जायेंगे सब हम,
खुसियो क दौर में ना शामिल कर मुझे..
पर दुःखो में चलना चाहेंगे
आपके सुंग कदम से कदम

दिल में इंतज़ार की लकीर छोड़ जायेंगे,
आँखों में यादों की तस्वीर छोड़ जायेंगे,
ढूंढ़ते फिरोगे हमें रात दिन,
ज़िन्दगी में एक दोस्त की कमी छोड़ जायेंगे

ज़िन्दगी मुझसे यों दगा न कर
मैं ज़िंदा रहूँ बिन उसके यह दुआ न कर
देखता है उसे कोई तो होती है जलन
ए हवा तू भी उसे छुआ न कर

आवाज क पीछे की जो ख़ामोशी जान सके
मेरे सूखी हुई जिन्दगी म जो रंग डाल सके
मेरी दिखाइ हुई जिंदगी देख क तो सभी हस्ते ह
ढूंढ रहा हु कोई इसा शक़्क़्स जो मेरे दर्द को भी पहचान सके

तेरे बगैर इस ज़िन्दगी की हमें ज़रूरत नहीं,
तेरे सिवा हमें किसी और की चाहत नहीं,
तुम ही रहोगे हमेशा मेरे दिल मे,
किसी और को इस दिल मे आने की इजाज़त नहीं.!

हर तरह के इलज़ाम को सह लेते है
ज़िन्दगी को युही जी लेते है
मिला लेते है झॉंसे हाथ दोस्ती का
उन हाथों से फिर, ज़हर भी पी लेते है

दोस्ती क नाम पे दीवाने चले आते हैं
शर्मा के पीछे परवाने चले आते हैं
तू मेरी ज़िन्दगी में नहीं आना चाहता ना आ
पर आना मेरी मौत पे उस दिन तो बेगाने भी चले आते है..

ज़रा सी ज़िन्दगी हैं,अरमान बोहत हैं
हमदर्द नहीं कोई,इंसान बोहत हैं
दिल का दर्द सुनाएं तो सुनाये किस को
जो दिल के करीब हैं,वो अनजान बोहत हैं

वो अजनबी था तो मुझसे दिल लगाया क्यूँ?
इस गैर को अपना बनाया क्यों ?
वो मेरा होता तो मुझे छोड़ के क्यूँ जाता?
वो मेरा नहीं था तो मेरी ज़िन्दगी में आया क्यों?

हस कर जीना दस्तूर है ज़िंदगी का
एक यही किस्सा मशहूर है ज़िंदगी का
बीते हुए पल कभी लौट के नहीं आते
यही सबसे बड़ा कसूर है ज़िंदगी का

दुनिया में हक़ीक़त का पता कुछ नहीं
इलज़ाम हज़ारो ह खता कुछ अनहि
मेरी ज़िंदगी में क्या है पढ़ न सकोगे
बस अश्क़ो के दाग है और लिखा कुछ नहीं

 Enjoy With ShayariGuide

 2 Line Attitude Romantic Bewafa 
 Comedy Dard Dosti Emotional
 Hindi Image Life Love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *