Emotional Shayari In Hindi- Top 200+ Emotional Shayari – Emotional Shayari, Top Emotional Shayari in Hindi, Emotional Shayari Quotes,Dard Bhari Shayari in Hindi, Best Emotional Quotes.Find The New Best Emotional Shayari, Latest Hindi Sad Emotional Shayari Collection. Share these Hindi sad and Emotional shayari, quotes

Emotional Shayari In Hindi 2020

Romantic Emotional Quotes in hindi सच्ची भावनाओं को साझा करने का सबसे अच्छा तरीका है। साथ ही दो लोगों के बीच एक अच्छा रिश्ता बनाया जो एक दूसरे से प्यार करते हैं। हर दिन लोग अपने व्हाट्सएप / फेसबुक / इंस्टाग्राम स्टेटस के लिए नवीनतम शायरी खोज रहे हैं। यह संग्रह आपके दिमाग को उड़ा देगा और आपको ये पसंद आएगा। ज्यादातर युगल प्यार करने के लिए अपने रोमांटिक मूड को व्यक्त करने के लिए शायरी उद्धरण का उपयोग करते हैं। ये शायरी आपको रोमांस में मदद करेगी और नीचे दिए गए संग्रह को पढ़कर आपका साथी पूरी तरह से प्रभावित होगा।

तेरी ख़ामोशी हमारी कमजोरी हैं,
कह नहीं पाना हमारी मज़बूरी हैं,
क्यों नहीं समझते हमारी खामोशियो को,
खामोशियो को जुबा देना बहुत जरुरी हैं

ना किस्सों में ना किश्तों में
ज़िन्दगी का मज़ा है सच्चे रिश्तों में

अब के हम बिछड़े तो शायद कभी ख़्वाबों में मिलें
जिस तरह सूखे हुए फूल किताबों में मिलें
ढूँढ उजड़े हुए लोगों में वफ़ा के मोती
ये ख़ज़ाने तुझे मुम्किन है ख़राबों में मिलें

कैसा वक़्त ह उसे फुर्सत नहीं मुझे याद करने की,
कभी वो शख्स मेरी ही
सांसों से जिया करता था.

बहुत तड़पाते है दिल किसी के याद में
फर्क बस इतना है वो हमें सोच नहीं पाते
और हम हर पल मै उन्हें भुला नहीं पाते

उन से दूर जाने का इरादा न था
सदा साथ रहने का भी वादा न था
वो याद न करेंगे यह जानते थे हम
पर इतनी जल्दी भूल जाएंगे, अंदाज़ा ना था

भूल कर भी हमीं न भूल जना
भूल से अगार कोई भूल होई
भूलम स्मज कर भुल जाना
अरै भूलना सिरफ भूल को
भूल कर भी हमीं न भूल जना

अपनी महफ़िल को कितना भी सजा कर देख लो
रेह न पाओ गे कबी भुला कर देख लो
यक़ीन नहीं आता तो आज़मा कर देख लो
हर जगह मेहसूस होगी कमी हमारी
अपनी महफ़िल को कितना भी सजा कर देख लो

जब भी तुम्हे भुलाना चाहता हु में
गमो मई भी मुस्कुराना चाहता हु में
तुम्हे भूलके एक नयी दुनिया बसाना चाहता हु में
मगर न जाने क्यों निकल आते है आँसू
जब भी तुम्हे भुलाना चाहता हु में

जो नहीं मिला उसे भूल जा
कहाँ आ के रुकने थे रास्ते, कहाँ मोड़ था उसे भूल जा
जो मिल गया उसे याद रख, जो नहीं मिला उसे भूल जा

किताबों में रख क सुला गया हमको
आँख बंद की और भुला गया हमको
कोई अजीब मुस्सवर था जो बारिशों क मौसम में
कच्ची दीवारों पे बना गया हमको

भूल जाने का उन्हें जब भी इरादा चाहा
हम ने कब उन से मुलाक़ात का वादा चाहा
दूर रह कर तो उन्हें और भी ज़्यादा चाहा
याद आये हमें और भी शिदत से हु
भूल जाने का उन्हें जब भी इरादा चाहा

हम भूलने क लिए दोस्त बनती नहीं हैं
हम दोस्तों को भूलते नहीं हैं
मगर ये बात जात्ताते नहीं हैं
दोस्तों की हमेशा रखते हैं याद
हम भूलने क लिए दोस्त बनती नहीं हैं

जब भी तुम्हे भुलाना चाहता हु में
गमो मई भी मुस्कुराना चाहता हु में
एक नयी दुनिया बसाना चाहता हु में
मगर न जाने क्यों निकल आते हैं आंसू
जब भी तुम्हे भुलाना चाहता हु में!

आ जाते हैं याद हमें रुलाने के लिए
पीते हैं शराब हम जिन्हें भूलने के लिए
वो ही आ जाते हैं याद हमें रुलाने के लिए

जिसे याद करूँ वही भूल जाता है
हर रोज़ कोई खुवाब टूट जाता है
हर रोज़ कोई अपना रूठ जाता है
न जांय मेरी क़िस्मत में क्या है
जिसे में याद करों वही मुझे भूल जाता है.

हम एक पल भी मुस्कुराना भूल गए
ग़मो मैं हम हसना भूल गए
खुशी का तराना भूल गए
तेरी याद में आँसू बहते बहते
हम एक पल भी मुस्कुराना भूल गए

हम से तो एक इंसान बुलाया न जा सका
एक दिल को दिल लगे से बचाया न जा सका
क़िस्मत से अपना आप चुराया न जा सका
हैरत है के लोग कैसे ख़ुदा को भूल गए
हम से तो एक इंसान बुलाया न जा सका

वह तो भूल गए हम कहानी की तरह
जिनकी याद है दिल में निशानि की तरह
वह तो भूल गए हम कहानी की तरह

भूलना नहीं चाहे कभी जुदा रहे आपसे
कोई गिला न कोई शिकवा रहे आपसे
ये आरज़ू है एक सिलसिला रहे आपसे
बस एक छोटी सी इल्तिजा करते हैं हम
भूलना नहीं चाहे कभी जुदा रहे आपसे

वक़्त कहता है मुझे गवना मत
दिल कहता है मुझे लगाना मात
दोस्त कहता है मुझे आज़माना मत
और हम कहते हैं हमें भूलना मत

कुछ वक़्त हमारी ज़िन्दगी है जाना
तुम्हें भूलने में हमें कुछ वक़्त लगे गा
और वही कुछ वक़्त हमारी ज़िन्दगी है जाना

पहले हसाया पीर रुला कर चली गयी
सपनों की तरह आकर चली गयी
अपनों को भुला कर चली गयी
किस भूल की सजा दी हमें
उसने पहले हसाया पीर रुला कर चली गयी

भूलोगे भी कैसे जब हम ही नहीं भुला
तुम भूल के भी मुझे भूल न पाऊं गे!
भूलो गेय भी कैसे जब हम ही नहीं भुला पाए

आपको भूल जाऊ उम्र गुजरने की बात है,
आप को ना हो यकीन यह और बात है,
जब तक रहेगी साँस तब तक रहोगे याद,
यह सांस टूट जाए तो और बात है

ख्याल में आता है जब उसका चेहरा,
तो लबों पे अक्सर फर्याद आती हे,
हम भूल जाते हैं उसके सारे सितम,
जब उसकी थोड़ी सी मोहब्बत याद आती हे..

हर चेहरा तुम जैसा लगता है
कहीं कहीं से हर चेहरा तुम जैसा लगता है
तुम को भूल न पायेंगे हम, ऐसा लगता है
ऐसा भी इक रंग है जो करता है बातें भी
जो भी इसको पहन ले वो अपना सा लगता है

हम क्या भिछडे भूल गए रिस्तों की शराफ़त हम
जो भी मिलता है कुछ दिन ही अच्छा लगता है

के भूल जाते हैं खुद ही
हम को भूल न जाना तुम
यह कहते हैं सब ही
लेकिन आता है वक़्त कुछ ऐसा
के भूल जाते हैं खुद ही

 Enjoy With ShayariGuide

 2 Line Attitude Romantic Bewafa 
 Comedy Dard Dosti Emotional
 Hindi Image Life Love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *